Best 101+ किसी को भड़काने वाली शायरी | Provocative Shayari (2024)

भड़काने वाली शायरी
Rate this post

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको 101+ भड़काने वाली शायरी बताई है जो कि बहुत ही ज्यादा बेहतरीन और लाजवाब शायरी है और यकीनन आपको पसंद भी आने वाली है। दोस्तों अगर आप भी किसी भी व्यक्ति को शायरी की सहायता से भड़काना चाहते हैं लेकिन आपको गूगल पर ऐसी शायरी नहीं मिल पा रहे हैं।

जिसकी सहायता से आप किसी को भड़का सके तो अब आपको चिंता करने की कोई भी आवश्यकता नहीं है क्योंकि आज आप बिल्कुल सही आर्टिकल पर पहुंचे हैं। जिसमें हमने आपको 101 से भी ज्यादा ऐसी शायरी बताई है जिनकी सहायता से आप किसी भी व्यक्ति को बहुत ही आसानी के साथ भड़का सकते हैं।

दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हैं हम सभी का कोई ना कोई दुश्मन जरूर होता है और ऐसा व्यक्ति भी जरूर होता है जिसको हम भड़काना चाहते हैं तो अगर आपके पास भी कोई ऐसा व्यक्ति है और आप उसके पास Bhadkane Wali Shayari भेजना चाहते हैं तो आप उसके पास हमारे आज के इस आर्टिकल में लिखी हुई शायरी को भेज सकते हैं। तो आएये दोस्तों बिना किसी देरी के जानते हैं 101 से भी ज्यादा भड़काने वाली शायरी कौन सी है।

110+ कार्यक्रम की शुरुआत के लिए शायरी

Attitude दुश्मन को जलाने वाली शायरी
Attitude दुश्मन को जलाने वाली शायरी

माना कि तुम्हें भौकना आता है,

लेकिन अगर औकात से बाहर भौंका,

तो याद रखना हमें ठोकना भी आता है।

अगर लोग तुम्हारी बुराई पीठ पीछे करते है

तो समझ लो तुम उसने बहुत आगे हो !!

उड़ी जो धूल जलन नफरत और खुदगर्ज़ी की

आँचल हवाओ का मेला हो गया राह में चलते चलते !!

दूसरे से जलन आदमी को एक

जगह स्थिर कर देती है आगे नहीं बढ़ने देती !!

सुरमे की तरह पीसा है हमे हालातों ने

तब जा के चढे है लोगो की निगाहों में !!

जब आपके दुश्मन बढ़ते जाये तो समझ लेना

कि बेटा तुम कामयाब हो रहे हो।

जिगर वालो का डर से कोई वास्ता

नहीं होता हम कदम वहा रखते है

जहाँ कोई रास्ता नहीं होता !!

कोई मुझसे जलता है

मुझे अपने आप पता चलता है।

मिजाज़ अपना कुछ ऐसा बना लिया हमने 

तुम्हारे जलने से हमे घंटा भी फर्क नहीं पड़ता 

हम दोनों के दिलो की यह मोहब्बत नेक हे

फिर भी ज़माने में दुश्मन हमारे अनेक हे।

वैसे तो पूरी दुनिया हमारी दीवानी है

हाँ भूल गए है कुछ लोग औकात अपनी

वक्त रहते उन्हें उनकी औकात याद दिलानी है।

तुझ में बात ही कुछ ऐसी है,

मुझसे जलने वालों की ऐसी की तैसी है।

गुलाम हूँ अपने घर के संस्कारों का, वरना

तेरी औकात दिखाने का हुनर मैं भी रखता हूँ।

तू क्या हमारी बराबरी करेगा पगले हमारे तो नींद में भी

खींची हुई फोटो भी लोग Dp लगाते है।

दोस्त तुम्हारे खून में सिर्फ जलना लिखा है

और हमारे खून में सिर्फ जलाना !!

चाहने वालों के दिल में हूँ

जलने वालों के दिमाग में हूं।

भीड़ में खड़ा होना मकसद नहीं है मेरा,

भीड़ जिसके लिए खड़ी हो वो बनना है मुझे।

दुश्मन को जलाने वाली शायरी
दुश्मन को जलाने वाली शायरी

जलने लगा हैे जमाना सारा,

क्योकि चलने लगा है अब टाइम हमारा !!

गरज उठे गगन सारा समुन्दर छोड़ें अपना किनारा

हिल जाए जहान सारा जब गूंजे महादेव का नारा !!

फर्क उन में औऱ हम में एक ही है।

हम उन्हें जलाते है वह हम से जलते है।

वही लोग उठाते हैं हम पर उंगलियां,

जिनकी औकात नहीं होती हमें छूने की।

कमाल करते हैं हमसे जलन रखने वाले भी,

महफ़िले खुद की सजाते हैं और चर्चे हमारे करते हैं !!

चाँद भी पूरी रात जला था उन दोनों को साथ देखकर

सुना हे दाग आज तक नहीं मिटा !!

नाचेगी धरती झूमेगा आसमान,

जब मेरे दुश्मन जायेंगे शमशान।

सब्र कोई कमजोरी नहीं होती,

ये वो ताकत है जो सब में नहीं होती।

अबे ओये मेरी बुराई करनी है तो मुँह पे कर न

मैंने कोई अपनी 10 जगह ब्रांच नही खोल रखी है !!

रिश्ते में प्यार की ताक़त कुछ वक़्त बीत जाने के बाद पता चलती हे

वरना पहली मुलाकात में तो दुश्मन भी प्यार से बाते करता हे।

हवा दुश्मनी की बांकि है,

तुम मुझ से जलते हो इतना ही काफ़ी है।

बात बात पर बिगड़ा मत करो,

हम बिगड़े तो तुम्हारा नक्शा बिगाड़ देंगे।

तू हसीं इतनी और मुझे मोहब्बत तुझसे दुनिया को तो खिलना ही था

जब सारा प्यार मिले जहाँ का चाँद को सूरज को तो जलना ही था !!

महसूस तब हुआ जब सारा शहर मुझसे जलने लगा

तब समझ मे आया कि साला अपना भी नाम चलने लगा है !!

किसी से जलने का वक्त हमारे पास तो नहीं है। 

लेकिन औरों के पास हम से जलने का वक्त बहुत ज्यादा है।

जब जान प्यारी थी तो दुश्मन हजारों थे,

अब मरने का शौक हुआ तो कातिल नही मिलते।

Best 101+ Children’s Day Shayari

तुमसे अच्छे तो मेरे दुश्मन निकले

हर बात पर कहते हैं कि तुझे नहीं छोड़ेंगे।

मत करो मेरी पीठ के पीछे बात जाकर कोने में

वरना पूरी जिंदिगी गुज़र जाएगी रोने में।

लड़कियों को जलाने वाली शायरी
लड़कियों को जलाने वाली शायरी

आज कल कुछ लोग मेरे बारे में बुरा कहते है,

शायद वह मुझ से जलते रहते है। 

हमारा ऐटिटूड ही है जिससे हम फेमस हैं,

जो हमें जान लेता है वो हम पे जान देता है।

शराफत का जमाना ही नहीं रहा साहिब,

किसी को इज्ज़त दो तो वो कमज़ोर समझने लगते हैं !!

वक़्त बदल चुका है अब हमसे जलने वाले

कुत्ते गली में नही सोशल मिडिया पे भोकते है !!

शब्द संभाल कर बोलिये, 

कही बोलने के लायक ही नहीं रहो। 

अपने माँ बाप की इकलौती हूँ,

तो पगले अकड़ भी तो होगी ही।

मोह में हम बुराई नहीं देख पाते और

जलन में हम अच्छाई नहीं देख पाते !!

कामयाबी किसी के जलन होने से नहीं रूकती है

इसलिए बेहतर है कि खुश हो और सहयोग करे !!

व्यक्ति में इतनी ताक़त हमेशा होनी चाहिए,

कि जलने वालों को और ज्यादा जला सके।

माना कि मैं कुछ ख़ास नहीं,

पर मेरे जैसी किसी में बात नहीं।

अगर वो तुमसे जलने लगे है तो समझ जाओ

तुम वो बन चुके हो जो वो बनना चाहता था पर बन ना सका !!

हम अपने से ज्यादा दुश्मनो पर नज़र रखते हैं।

इसलिए तो कब अपने दुश्मन बन जाते हे पता ही नहीं चलता।।

जिन लोगों के पास दिल ही नही है। 

वह लोग समझते है मैं पत्थर दिल हूं।

अब न ख़ुशी है, न ही कोई दर्द रुलाने वाला,

हम ने अपना लिया है हर रंग ज़माने वाला।

ये वक़्त वक़्त की बात है जनाब

आज धुप में सुकून है तो कल इसी धुप से तुम्हे जलन होगी !!

मुझसे नाराज रहने वाले लोग

अक्सर ज्यादा नज़र रखते है मुझ पर !!

हर एक कही बात को,हम याद रखते हैं

आप की यह कड़वी बातों को ब्याज सहित चुकाएंगे जरूर।

लडको को जलाने वाली शायरी
लडको को जलाने वाली शायरी

अगर तुम्हे लगता है गलत हूं मैं,

तो सही हो तुम, थोड़ा अलग हूं मैं।

अब न यकीन किसी पर करीब से करेंगे

दुःख सुख अपने किसी करीब से करेंगे

दोस्त ही आखिर बन गए दुश्मन मेरे

जब कभी की दोस्ती तो सीधे रक़ीब से करेंगे !!

दुनिया में तो चार दिन के मेहमान है

तो आखिर क्यो इतना परेशान इंसान है

मिट्टी से बने है मिट्टी में मिल जाना है

तो फिर किस बात का अभिमान है..!

हैरत किस बात की गम किस बात का 

जलने वालों को जलने दो क्या जाता है अपने बाप का। 

एक दिन भी निभा न सकेंगे मेरा किरदार,

वो लोग जो मुझे मशवरे देते हैं हजार।

न गरूर इतना की जिए दौलत का साहिब

बड़ो बड़ो को मौत ने मिट्टी में दफ़न किया हैं !!

तू है क्या तेरी औकात क्या है,

चल अकड़ मत दिखा बता बात क्या है..!

मिर्ची भी क्या मस्त चीज है,

हमारे आने से भी लग जाती है !

लौट कर आया हूँ हिसाब करके जाऊंगा,

सबको उनकी औकात दिखा कर जाऊंगा।

वो बोले ताली तो हाथ से बजती है

मेने चमाट मार के बजा दी एक हाथ से ताली !!

जो तू देख रहा मुझमें वह सिर्फ वहम है

जो तू देख नही पायेगा मुझमें वही मेरा अहम है..!

लोग जलते है मुझसे तो जलने दो,

मुझे घंटा भी फर्क नहीं पड़ता उन्हें जलने दो। 

कुत्तों का काम है बेवजह भौंकते रहना,

शेर से सीखा है हमने खामोशी से रहना।

न जाने कब दूसरों के लिए खुशी

जलन में बदल जाती हैं !!

छाप अपनी वो छोड़ जाएंगे,

कभी भूला व मिटा नही पाओगे। 

आप को किस बात का घमंड है। 

सब कुछ दिया तो ऊपर वाले ने है। 

दीवानगी में हम कुछ ऐसा कर जायेगे,

मोहब्बत की सारी हदें पार कर जायेगे।

जो तालाबो पे चौकीदारी करते है

वो समुंदरों पे राज नही कर सकते !!

तुमने जो किया सब खबर है

अब तू सब के लिए बेखबर है। 

मुझे इसलिए भी लोग कमज़ोर समझते है

क्योंकि में किसी से बदला लेने में विश्वास नहीं करता।

मुझे बस तू चाहिये,

ये मत पूछ क्यों चाहिये।

Best 101+ Kiss Day Shayari

जलने वाले जलते रहो जलना तुम्हारा काम है

हम भी तुम्हे भुजने नहीं देंगे क्योंकि यह हमारा काम है !!

रिश्तेदार को जलाने वाली शायरी
रिश्तेदार को जलाने वाली शायरी

तारीफ तो उसकी की जाती है,

जो वाकई तारीफ के लायक हो।

खो न जाये पहचान तेरी कहीं

इतने रंग भी ना बदलो तुम।

जानता हूँ मै कहाँ तक है उड़ान इनकी,

आखिर मेरे ही हाथ से निकले परिंदे हैं ये।

दुश्मन प्यारा नहीं होता वो एक ही इंसान ऐसा होता हे

जो हमारी कमजोरी और हमारी ताक़त की परख रखता हे !!

अकेला तूं नहीं बेटा….

तेरे जैसे बहुत से कुत्ते जलते है मेरे से। 

तुम्हें पता भी नहीं तुम कितना गलत बोल रहे हो

तुम आधा नहीं तुम पूरा गलत बोल रहे हो।

जैसा भी हूँ अच्छा या बुरा अपने लिए हूँ,

मैं खुद को नहीं देखता औरों की नजर से।

अगर तुम्हे लगता है कि गलत हूँ मै

तो सही हो तुम क्युकी थोड़ा अलग हूँ मैं !!

चालाकियां तो मैं भी सीख लूँ तुम्हारी तरह 

कहीं न कहीं काम आ ही जाएगी।

संपर्क जरा दूर से रखे हमसे….

क्योंकी पास आओगे तो जल जाओगे। 

अगर जीतना है तो क़ाबिलियत बढ़ाओ,

क़िस्मत की रोटी तो कुत्तों को भी मिलती है।

राज तो हमारा हर जगह पर है।

पसंद करने वालो के दिलो में न पसंद करने वालो के दिमाग में।

जलने वालो की तो अभी और जलानी है,

लगता है उन्हे जलने की प्यास है उन की प्यास बुझानी है। 

मैं अच्छा हूं या बुरा हूं वो बात तू छोड़ दे। 

तू यह बता तू मुझ से जलता है ना। 

मुझे चाहने वालों की तादात बढती जा रही है,

नफरत करने वालों, दुआओं मे थोड़ा असर लाओ।

खुद को शहंशाह समझ कर घर से ना निकालो

क्योंकि आज शहंशाह भी भर्ती हो गए हैं।

बातों से तो सब किया आपने,

मुझे लगता है सिर्फ बाते ही आती है आप को।

हो सकता है शायद तुम सही हो,

लेकिन तुम्हारे हिसाब से। 

लोग वाकिफ हैं मेरी आदतों से ए दोस्त,

रुतबा कम ही सही पर लाजवाब रखता हूं।

उसके गालों को युं हर वक़्त चुमना

जलन होने लगी है मुझे उसके झुमको से !!

बड़े ही कमजोर हैं दुश्मन सारे,

हम से सिर्फ जल ही सकते है कुछ कर नही सकते।

जब भी तुम्हारा हौसला आसमान तक जाएगा,

जब जलने वाला कोई न कोई तेरे पास चला आयेगा। 

लोग जलते रहेंगे आग की तरह,

और हम खिलते रहेंगे गुलाब की तरह।

कुछ न करने से उलझन होती हे खुद को

और कुछ कर जाने से उलझन होती हे दुसरो को !!

जिसका हिसाब कोई रखता नहीं

वह खोटे सिक्के हो तुम।

जलने वाली शायरी 2 Line
जलने वाली शायरी 2 Line

अपने ही गैरो जैसा बरताव करने लगे है,

लगता है अब वो भी हम से जलने लगे है। 

Best 101+ Black Day Shayari

निष्कर्ष

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको 101+ भड़काने वाली शायरी बताई है जो कि बहुत ही ज्यादा बेहतरीन और लाजवाब शायरी है और यकीनन आपको पसंद भी आई होगी। आशा करते हैं दोस्तों आपको हमारा आज का यह आर्टिकल पसंद आया होगा दोस्तों अगर आपको हमारा आज कोई है आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों में शेयर करना बिल्कुल भी ना भूले। ताकि आपके साथ-साथ आपके दोस्त भी Bhadkane Wali Shayari को पढ़ सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *