Best 101+ दोगले लोग शायरी | Dogle Log Par Shayari (2024)

दोगले लोग शायरी 2 Line
Rate this post

आज के इस आर्टिकल में हम आपके लिए 101+ दोगले लोग शायरी प्रस्तुत करने वाले हैं दोस्तों जैसा कि आप जानते ही हैं हमारे आसपास बहुत सारे ऐसे लोग होते हैं जो हमारे सामने हमारी तारीफ करते हैं और दूसरे के सामने उसकी तारीफ करते हैं और इसी तरह वह दोनों की नजर में अच्छे इंसान बनी रहती हैं लेकिन मुझे नहीं जानते कि जब उनकी सच्चाई का दोनों को पता चलता है तब उनकी इज्जत थोड़ी सी भी नहीं रह जाती है तो हमें ऐसे लोगों से दूर रहना चाहिए और ना ही कभी उनके जैसा बनना चाहिए।

दोस्तों अगर आपके आसपास भी ऐसे ही दोगले लोग रहते हैं जो आपके सामने आपकी तारीफ और दूसरे के सामने दूसरे की तारीफ करते हैं और आप भी उनके लिए Dogle Log Shayari को पढ़ना चाहते हैं या फिर उनके पास दोगले लोग शायरी को भेजना चाहते हैं तो अब आपको चिंता करने की कोई भी आवश्यकता नहीं है क्योंकि आज आप बिल्कुल सही आर्टिकल पर पहुंचे हैं जिसमें हमने आपको 101 से भी ज्यादा शायरी बताई है तो आएये दोस्तों जानते हैं 101 से भी ज्यादा Dogle Log Shayari कौन सी है।

110+ दुश्मन को जलाने वाली शायरी

Matlabi लोग शायरी
Matlabi लोग शायरी

दिल में धोखा होठों पे मुस्कान होती है,

दोगले लोगों की यही पहचान होती है।

दोगले लोगों की कुछ ऐसी कहानी है,

दुनिया ऐसे लोगों की ही दीवानी है।

अब लोग रिश्तों को स्वार्थ से गढ़ रहे है,

इस दुनिया में दोगले लोग बहुत बढ़ रहे है।

छोड़ गए सब दोगले आज हमारा साथ,

कल तक जो कहते थे हम थामेंगे तुम्हारा हाथ।

धोखा देने वाले दोगले ऐसे हैं,

जैसे कोई रोग हो।

जरा संभल कर दिखाना ज़ख्म लोगों को इस ज़माने में,

यहां हर शख़्स की मुट्ठी में नमक रखा है।

सच्चाई से विश्वाश उठ जाता है,

जब दोगले लोग अपनी बात से मुकर जाते हैं।

किस पर रखें भरोसा अब हम, क्या गलत है और क्या सही,

इस दुनिया में यारों दोगले लोगों की कोई कमी नहीं।

शरीफों के लिए वो जैसे एक रोग हैं,

धोखा देने वाले जो दोगले लोग हैं।

दोगले लोगों से आप बच कर रहना

हो सके तो ऐसे लोगों से दूर ही रहना।

मेरी मासूम नादानियों ने मुझे रूलाया है बहुत,

दोगले यारों ने मेरा दिल दुखाया है बहुत।

दोगले लोग हैं ये चेहरे से ही पहचान जाते हैं,

दिल में हैं ख़ुदगर्ज़ दिमाग़ में हैं बेईमानी के ख्याल आते हैं।

अपने चाहने वालों को भी हमेशा तड़पाते हैं,

दोगले लोग मुलाकातों के बस वादे करते हैं।

साँपो से मत डरा करो, दोगले लोगो से बच के रहो,

जो चेहरा बदल के आपसे मिला करते हैं।

छोड़ गए वो साथ हमारा जो दोगले थे,

जो कभी कहा करते थे हम हैं साथ।

बुरे लोगों की संगत में कभी कोई किसी अपने को है खोता,

दोगले लोगों के विचारों की वजह से हमें नुकसान है होता।

सच्चाई से विश्वास हट जाता है,

दोगला इन्सान जब जुबान से पलट जाता है।

सामने कुछ और पीछे कुछ और हो जाते हैं,

गिरगिट जैसे रंग बदलने वाले लोग दोगले कहलाते हैं।

दोगले लोग मतलबी यार मुंह पे आप पीठ पीछे सांप
दोगले लोग मतलबी यार मुंह पे आप पीठ पीछे सांप

झूठी-मूठी बातें करके सबका दिल बहलाते हैं,

मौके पर धोखा दे दे दोगले वो कहलाते हैं।

दोगले लोगों से दूर रहना वो जहर से भी ख़तरनाक होते हैं,

वो पहले तो मीठा बोलते हैं और फिर पीछे से छुरा भोंकते हैं।

अपने चाहने वालों को भी हमेशा तड़पाते हैं,

दोगले लोग मुलाकातों के बस वादे करते हैं।

जिन्होंने दी कसमें उम्र भर, यारों हमारे साथ कब थे,

जो हमारा साथ छोड़ गए वो सब दोगले लोग थे।

मतलब से है रिश्ता, मतलब से है मित्रता,

सभी दोगले कर रहे, मतलब का व्यवहार।

पीठ पीछे बुराई करना उनकी पहचान है,

दोगले लोगों के होठों पर दिखती मुस्कान है।

छोड़ गए सब दोगले आज हमारा साथ,

कल तक जो कहते रहे, हम थामेंगे हाथ।

तेरे पास आकर तेरे हो जाएंगे और मेरे सामने यह मेरे हैं,

बच कर रहना इन दोगले लोगों से इनके दो दो चेहरे हैं।

सच्चाई से विश्वास हट जाता है,

दोगला इन्सान जब जुबान से पलट जाता है।

मन में गंदगी और जुबान में मिश्री लेकर घुमते हैं,

दोगले लोग हर वक्त दोगलापन का अवसर ढूंढते हैं।

दोगले लोगों की दोस्ती कभी भी नहीं होती सच्ची,

वो हमेशा अपने स्वार्थ के लिए रिश्ते निभाते हैं।

कभी इस दुनिया को सच्ची बातें ना सिखाते,

दोगले लोग तो हमेशा झूठे सपने ही दिखाते।

कितने दोगले इस दुनिया के लोग होते हैं,

एक तरफ तो पंख कुतरने की कोशिश करते हैं,

और दूसरी तरफ हौसला अफजाई कोंग रचते हैं।

105+ पिता का महत्व शायरी

अपने हैं नही अब, जूठा है सब प्यार,

भरा पड़ा है दोगलो से ये सवार्थी संसार।

दूसरों को अपनी सच्चाई बताने में विरोध होता है,

दोगले लोगों को तो अक्सर धोखा देने का शौक होता है।

दोगले शायरी in English
दोगले शायरी in English

मतलब से है मित्रता मतलब से है प्यार,

सभी दोगले कर रहे मतलब का व्यवहार।

लाख बुरे सही लेकिन दोगला चेहरा नहीं रखते,

हम दोगलेपन से किसी से धोखा नहीं करते।

सामने कुछ और पीछे कुछ और हो जाते हैं,

गिरगिट जैसे रंग बदलने वाले “दोगले” कहलाते हैं।

दोगले लोगों को पहचानना बहुत ही मुश्किल होता है,

वो हर किसी के साथ एक ही तरह से पेश आते हैं।

दुनिया में कभी किसी झूठे इंसान की तारीफ नहीं होती,

दोगले लोगों की जुबान पर कभी सच्चाई नहीं होती।

इन दोगले लोगों की बात बताता हूँ,

इनके दोगलेपन के राज सुनाता हूँ।

यह आदत बन कर छोड़ जाते हैं,

इसलिए इनसे मैं दूरियां बनाता हूँ।

गुम फिर कर इंसान अपनी बात पर आ जाता है जब उनका मतलब,

खत्म हो जाता है तो लोग अपनी औकात दिखा जाते हैं।

अगर चाहते हो अपने जीवन में सफलता पाना,

दोगले लोगों पर यार तुम कभी ना विश्वास करना।

अपनापन अब है नहीं, झूठा है सब प्यार,

भरा दोगलों से पड़ा, स्वार्थी यह संसार।

मुझे सपने दिखा कर उन्हें तोड़ गया,

वो दोगलापन दिखा कर मुझे छोड़ गया।

धोखा देने की हमेशा, करते रहते तलाश,

इस दुनिया में दोगले, करते नहीं निराश।

दोगले लोगों से बचना, है सबसे अच्छा उपाय,

वो कभी भी अपना भला नहीं करेंगे, बल्कि सिर्फ़ अपना फायदा ही सोचेंगे।

सच्चाई से विश्वाश उठ जाता है,

जब दोगले लोग अपनी बात से मुकर जाते हैं।

दुनिया में जो दोगले इन्सान होते हैं,

अपनों के भेष में शैतान होते हैं।

बुरे वक्त में लोगों की पहचान देखी है,

काम पढ़ने पर दोगलों की औकात देखी है।

मन के भीतर उनके यारों हमेशा बुरे भाव चलते हैं,

दोगले लोग ऊपर से ही बड़े शरीफ नजर आते हैं।

दोगले रिश्तेदार शायरी
दोगले रिश्तेदार शायरी

घूम फिर कर हर शख्स उसी बात पर आ जाता है,

मतलब निकल जाए तो अपनी औकात दिखा जाता है।

मेरे बिना जैसे मर ही जाएगा ऐसे जताता था वो,

मेरे रूठ जाने पर मगरमच्छ के आँसू बहाता था वो।

मतलब से ही मित्रता, मतलब से ही प्यार,

सभी दोगले कर रहे, मतलब का व्यवहार।

दोगले लोगों की बातों में कभी भी विश्वास नहीं करना चाहिए,

वो हमेशा अपने स्वार्थ के लिए झूठ बोलते हैं।

एक न एक दिन ये सच्चाई दुनिया के सामने आती है,

दोगले लोगों की बेईमानी कभी ना कभी उभर कर आती है।

किस पर रखें भरोसा अब हम, क्या गलत है और क्या सही,

इस दुनिया में यारों दोगले लोगों की कोई कमी नहीं।

जरा सी अभी आंख लगी थी हमारी मुश्किल से,

चाहने वाले हमारे खड़े हो गए कंधा देने के लिए।

अपने जीवनकाल में उन्हें लगी बड़ी चोट होती है,

दोगले लोगों के दिल में हमेशा खोट होती है।

बुरे वक़्त के साथ जो अपनी मुलाकात देख ली,

कुछ दोगले लोगों की हमने औकात देख ली।

इन दोगले लोगों की बात बताता हूँ,

इनके दोगलेपन के राज सुनाता हूँ।

यह आदत बन कर छोड़ जाते हैं,

इसलिए इनसे मैं दूरियां बनाता हूँ।

डर बहुत लगता है उन लोगों का,

जिनके चेहरे पर मिठास और दिल में जहर लिए घूमते है।

जिन्होंने दी कसमें उम्र भर यारों हमारे साथ कब थे,

जो हमारा साथ छोड़ गए वो सब दोगले लोग थे।

सामने कुछ और पीठ पीछे कुछ ये चरित्र का दोहरापन,

जब जुबां एक तो बातों में क्यों दोगलापन।

मन में गंदगी और जुबान में मिश्री घोलते हैं,

सच में यार कितने दोगले होते हैं लोग।

दुनिया में कभी किसी झूठे इंसान की तारीफ नहीं होती,

दोगले लोगों की जुबान पर कभी सच्चाई नहीं होती।

मतलब के लिए दुश्मन के भी पैर चूम लेते हैं,

दोगले लोग कई चेहरे लगा कर घूम लेते हैं।

इन दोगले लोगों ने चेहरों पर चेहरों को लगा रखा है,

अपने दरिंदा चेहरे पर शराफत का मास्क चढ़ा रखा है।

मतलब से है मित्रता, मतलब से है प्यार,

सभी दोगले कर रहे, मतलब का व्यवहार।

101+ जोश भर देने वाली देशभक्ति शायरी

गिरे हुए लोगों पर शायरी
गिरे हुए लोगों पर शायरी

अपने जीवनकाल में उन्हें लगी बड़ी चोट होती है,

दोगले लोगों के दिल में हमेशा खोट होती है।

हँसते चेहरों के पीछे दर्द छुपे होते हैं,

दिन को जो हँसते हैं वो रातों को रोते हैं।

जिन्होंने खाया होता है धोखा दोगले लोगों से,

वो खुद फिर इस तरह से दोगले होते हैं।

ठहराव न हो जिस रिश्ते में,

वहां आपका ठहरना ही सही होगा।

जिन्होंने दी कसमें उम्र भर, यारों हमारे साथ कब थे,

जो हमारा साथ छोड़ गए वो सब दोगले लोग थे।

कैसे भी हालात रहें पर, साथ न छोड़ा सपनों का,

सीख गए जीना जब देखा दोगलापन हमने अपनों का।

मुझे रंगों से प्रेम है उसको मैंने यह बताया था,

फिर उसने गिरगिट की तरह रंग बदल बदल के मुझे दिखाया था।

धोखा देने की सदा, करते रहे तलाश,

इस दुनिया में दोगले, करते नहीं निराश।

दोगले लोग मतलबी यार,

मुंह पे आप पीठ पीछे सांप।

मुझे किसी से कोई शिकवा नहीं,

गलती मेरी ही थी जो मैंने इतना भरोसा किया।

दोगलों की बस्ती में अलग अलग डेरे हैं,

तेरे मुंह पर तेरे और मेरे मुंह पर मेरे हैं।

शत्रु से व्यवहार की कभी कोई जरूरत नहीं होती,

दोगले लोगों से मित्रता कभी अच्छी नहीं होती।

जहाँ से मिलता है माल, ये बनें उसी के लाल,

दोगले बुनते रहते सदा, बेईमानी का जाल।

कुछ हँसते चेहरों के पीछे दर्द छुपा लेते हैं,

इस तरह खुद को दोगला बना लेते हैं।

मतलब की दोस्ती मतलब का प्यार,

झूठे हैं यहाँ सभी दोगलों का है संसार।

मुझे औकात सबकी पता है,

आप भौंक के मत बताओ।

जो दोस्त खुद को उठाने के लिए दोस्त को गिरा दे,

उससे नीच इंसान दूसरा और कोई नहीं।

बड़ी अजीब मुसीबत हैं जनाब, किसी बात का मतलब,

कोई नहीं समझता और मतलब की बात सब समझ जाते हैं।

दुनिया में कभी ना झूठ के इरादे ज्यादा टिकते हैं,

दोगले लोग मतलब का ही व्यवहार करते रहते हैं।

दोगले लोग
दोगले लोग

झूठी-मूठी बातें करके सबका दिल बहलाते हैं,

मौके पर धोखा देते दोगले वो कहलाते हैं।

हँसते चेहरों के पीछे दर्द छुपे होते हैं,

दिन को जो हँसते हैं वो रातों को रोते हैं।

जिन्होंने खाया होता है धोखा दोगले लोगों से,

वो खुद फिर इस तरह से दोगले होते हैं।

दुःख के समय जो साथ ना दे उसे जान लो,

दोगले रिश्तेदारों को अच्छे से पहचान लो।

अपनापन अब है नहीं, झूठा है सब प्यार,

भरा दोगलों से पड़ा, स्वार्थी यह संसार।

एक मास्क से उनका क्या होगा,

जिनके कई चेहरे हैं।

जरा संभाल कर रखो अपने किरदारों को,

एक बार दाग लग गया तो पूरी उम्र भर धुलेगा नहीं।

झूठा और स्वार्थी इंसान खुद को बड़ा है समझता,

दोगले लोगों की बातों में अपनापन नहीं झलकता।

झूठी शान दिखाएँ, वो मांग-मांग कर भीख,

दोगले लोग भला कहाँ सीखते अच्छी सीख।

इस दोगली दुनिया में कौन किसी का होता है,

धोखा वही रिश्तेदार देता है जिसपर भरोसा होता है।

गिरे लोगों पर शायरी
गिरे लोगों पर शायरी

दोगलों की इस दुनिया में मैंने यह दस्तूर देखा है,

जिसकी मैंने मदत की जरूरत पड़ने पर उसको दूर देखा है।

Best 101+ Kumar Vishwas Shayari

निष्कर्ष

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको 101+ दोगले लोग शायरी बताई हैं जो कि बहुत ही ज्यादा बेहतरीन और लाजवाब शायरी हैं और यकीनन आपको काफी ज्यादा पसंद भी आई होंगी। आशा करते है दोस्तों आपको हमारा आज का यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों में जरुर शेयर करें ताकि वह भी हमारे आज के इस आर्टिकल को पढ़ सकें और वह भी बहुत ही आसानी के साथ Dogle Log Shayari को पढ़ सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *